उस के पहले कहो ‘घनश्याम’ को बरसने को, अपने दरिये को सनम! और भी गहरा कर दो! घनश्याम ठक्कर (ओएसीस) [Oasis Thacker]

About Ghanshyam Thakkar (Oasis)

One Response to उस के पहले कहो ‘घनश्याम’ को बरसने को, अपने दरिये को सनम! और भी गहरा कर दो! घनश्याम ठक्कर (ओएसीस) [Oasis Thacker]

  1. Pingback: गोकुल में पहचाना श्याम! तुझे; द्वारका में? (गीत) – घनश्याम ठक्कर (ओएसीस) Ghanshyam Thakkar | ઘનશ્યામ ઠક્કર (ઓએસીસ

Leave a Reply

Your email address will not be published.