Tag Archives: Rabindranath Tagore

चल तू अकेला – रबीन्द्रनाथ टैगोर (हिन्दी भाषांतर : घनश्याम ठक्कर)

हमारी प्राथमिक शालामें कई अभिप्रेरक कविताएं पढनेकी/गानेकी परंपरा थी. आयु के उस सूर्योदय कालमें कुछ ऐसे काव्य गाये, अपनाये,  जिनका प्रकाश आज तक जीवनपथको ज्योतिमान करता रहा है. गुरुदेव रबीन्द्रनाथ टैगोरकी इस कविताका अनुवाद गांधीजीके निकटतम अनुयायी श्री महादेव देसाईने किया … Continue reading

Posted in Club Oasis, geet, Ghanshyam Thakkar, Hindi Blog, Hindi Literature, Hindi Net, Hindi Poetry, Kavita, Oasis Thacker, Oasis-Poetry, Poem, Poetry, Rabindranath Tagore, कविता, गीत, घनश्याम ठक्कर, घनश्याम ठक्कर (ओएसीस), रबीन्द्रनाथ टैगोर, रवींद्रनाथ टैगोर, हिन्दी कविता, हिन्दी नेट, हिन्दी ब्लोग, हिन्दी साहित्य, કવિતા, રવિન્દ્રનાથ ટાગોર | Tagged , , , | 1 Comment