स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं – घनश्याम ठक्कर (ओएसीस)

Tiranga1.gif

भारत का राष्ट्रगीत

ऑर्केस्ट्रा प्रबन्धक और वादक

 घनश्याम ठक्कर (ओएसीस)

Happy Independence Day India – Oasis Thacker

मैं आप सब को पंद्रह अगस्त की शुभकामनाएं देता हूं.

1857 से 1947 तक कई भारतीयों ने आजादी की लड़ाई लड़ी थी. गांधीजी, भगतसिंह और कई देशभक्तों ने अपने जीवन का बलिदान दिया.

गांधी के नेतृत्व में दुनिया की पहली अहिंसक लड़ाई हुई, जिसमें कई देशभक्त मारे गये. जलियावाला बाग याद करो. सरदार पटेल, नेहरु और अन्य कई देशभक्तोंने आझादी की खातिर लडने के लिये मुश्किल और असुविधाजनक जिंदगी को चुनी…., जेल में और घर में. वे चाहते तो विलासमय और समृद्ध जिंदगी गुजार सकते थे.

स्वतंत्रता आसानी से नहीं आयी थी.

अब हमें सिर्फ स्वतंत्रता को भोग करना है…इमानदारी से अपनी जिम्मेदारी उठा के, कडी मेहनत कर के, देश के कानूनों का पालन करते हुए. दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हो रहा है.

बेईमानी और लालच स्वतंत्रता को खतरे में डाल सकते हैं.

याद रहें, दुश्मनो की बुरी नजर भारत को गुलाम बनाने के लिये हमेशां तैयार रहती है.

About Ghanshyam Thakkar

Music Composer, Music Arranger, Music Producer, Poet, Lyricist, Blog Editor, Audio Recording and Mixing Artist, Web-page Design Artist, Electrical Engineer(B.E.), Project Manager
This entry was posted in Club Oasis, English Literature, English Prose, Essay, geet, Ghanshyam Thakkar, Happy Independence Day, Happy Republic Day, Hindi Literature, Hindi Prose, India Independence Day, Instrumental Remix, Jan Gan Man, MP3, Music, Oasis Thacker, Oasis-Thoughts, Poem, Poetry, Prose, Rabindrnath Tagore, Republic Day, Viewpoint, गणतंत्र, गीत, घनश्याम ठक्कर, घनश्याम ठक्कर (ओएसीस), जन गण मन, भारत का राष्ट्रगीत, रवींद्रनाथ टैगोर, वतनप्रेम, संगीत, स्वतंत्रता दिवस, स्वातंत्र्यदिन मुबारक, हिन्दी गद्य, हिन्दी नेट, हिन्दी ब्लोग, हिन्दी साहित्य, કવિતા, ગદ્ય, ગીત, ઘનશ્યામ ઠક્કર, ભારતનું રાષ્ટ્રગીત, વતનપ્રેમ, વિમર્ષ-કણિકા, સંગીત, સુવિચાર, સ્વાતંત્ર્ય દિન and tagged , , , , , , , , , , . Bookmark the permalink.